Google celebrates Michiyo Tsujimura’s 133rd Birth Anniversary

michiyo
michiyo

आज विश्व की मशहूर शिक्षकों में से एक जापान की मिचियो सूजीमुरा का जन्म दिवस है। उनके 133वें जन्मदिवस पर गूगल डूडल ने धन्यवाद स्वरूप श्रद्धांजलि अर्पित की है।

आज विश्व की मशहूर शिक्षकों में से एक जापान की मिचियो सूजीमुरा का जन्म दिवस है। उनके 133वें जन्मदिवस पर गूगल डूडल ने धन्यवाद स्वरूप श्रद्धांजलि अर्पित की है। उनका जन्म 17 सितंबर 1888 में जापान के सैतामा प्रान्त के ओकेगावा मे हुआ था। वह एक जापानी कृषि वैज्ञानिक तथा जैव रसायनज्ञ थीं। उन्हें हरी चाय(green tea) के पोषण लाभों में अपने अग्रणी शोध के लिए जाना जाता है।

michiyoc

1913 में उन्होंने अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की। पढ़ाई पूरी करने के बाद वह योकोहामा हाई स्कूल में एक प्रोफेसर के तौर पर बच्चों को पढ़ाने लगीं। उनका सपना एक वैज्ञानिक शोधकर्ता बनने का था। उन्होंने उस सपने को पूरा भी किया। उन्होंने 1920 में, होक्काइडो इम्पीरियल यूनिवर्सिटी में एक  शोधकर्ता के रुप में जापानी रेशमकीट के पोषण गुणों का विश्लेषण करना शुरू किया।

michiyod

कुछ साल बाद, मिचियो सूजीमुरा टोक्यो इंपीरियल यूनिवर्सिटी में स्थानांतरित हो गए और डॉ उमेतारो सुजुकी के साथ हरी चाय की जैव रसायन पर शोध करना शुरू कर दिया, जो विटामिन बी 1 की खोज के लिए प्रसिद्ध थे। उन्होंने अपने ही शोध से निष्कर्ष के आधार पर ग्रीन टी के फायदो के बारे में बताया जिसके बाद इसका उपयोग बोलने लगा।

michiyob

उन्होंने कृषि वैज्ञानिक के तौर पर कई बेहतरीन कार्य किए थे।1932 मे वह जापान में कृषि में डॉक्टरेट प्राप्त करने वाली पहली महिला बनीं थीं। उसके बाद, वह ओचनोमिज़ु विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बन गईं। उन्होंने टोक्यो महिला उच्च सामान्य स्कूल में गृह अर्थशास्त्र के संकाय के पहली डीन बनकर इतिहास रचा था।

michiyoa

1 जून 1969 में 81 वर्ष की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। उन्होंने अपने जीवन में ऐसे ऐसे कारनामे किए जिन्होंने उनको इतिहास के पन्नो में अमर कर दिया। ग्रीन टी पर उनके शोध के लिए उन्हें 1956 में कृषि विज्ञान के जापान पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और 1968 में उन्हें ऑर्डर ऑफ द प्रीशियस क्राउन ऑफ द फोर्थ Class से सम्मानित किया गया था। उनके गृहनगर ओकेगावा में उनकी उपलब्धियों के सम्मान में एक पत्थर का स्मारक बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *