Sat. Jun 22nd, 2024
eye flu symptoms causes treatment and prevention in hindi

Table of Contents

Eye Flu :

बारिश और बाढ़ के कारण देश के कई जिलों में हालात खराब हो गए हैं। बारिश के मौसम में संक्रमण का खतरा ज्यादा होता  है और इसकी वजह से कई गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

eye flu symptoms causes treatment and prevention in hindiइन दिनों बाढ़ और बारिश के कारण आंखों की बीमारी तेजी से फैल रही है। गली-गली आपको काला चश्मा पहने लोग दिख जाएंगे। आंखों की बीमारी के कारण लोगों को गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है । अगर आपको भी इस दौरान आंखों में  दर्द, खराश और सूजन की परेशानी हो रही है तो इसे हल्के में मत लें। ये लक्षण आंखों में संक्रमण का संकेत देते हैं। Eye Flu  को मेडिकल भाषा में कंजंक्टिवाइटिस या पिंक आई भी कहा जाता है। आंखों की वजह से हर साल लाखों लोग प्रभावित होते हैं। इस बीमारी को समय पर इलाज न करने से आंखों की रोशनी को काफी नुकसान पहुंचता है।

Eye Flu क्या है?-

आई फ्लू आंखों का एक संक्रमण है, जिसके कारण आंखों में दर्द और सूजन जैसी समस्याएं होती हैं। यह रोग एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फैलता है। सीतापुर आई हॉस्पिटल के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. धर्मेंद्र सिंह कहते हैं, आई फ्लू के अधिकांश मामले एडेनोवायरस के संक्रमण की वजह से होते हैं। यह संक्रमण आपको किसी संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आने से भी हो सकता है। eye flu को पिंक आई और कंजंक्टिवाइटिस के नाम से भी जाना जाता है।

Eye Flu  के कारण –

बारिश के मौसम में आई फ्लू की समस्या अधिक फैलती है। इस दौरान वातावरण में वायरस फैलने से लोग eye flu की चपेट में आ जाते हैं। आंखों की एलर्जी आमतौर पर गंदगी, धूल आदि से होने वाली एलर्जी के कारण होती है। इस रोग में आंख का सफेद भाग सूज जाता है। बरसात के मौसम में पानी और बैक्टीरिया-वायरस बढ़ जाते हैं और परिणामस्वरूप आंखों में इन्फेक्शन ​​हो जाता है । इसके अलावा अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में हैं जिसे पहले से ही आंखों में संक्रमण है तो आपको भी आंखों में संक्रमण होने का खतरा रहता है।

इससे बचने के लिए, आपको किसी ऐसे व्यक्ति के साथ सीधे संपर्क से बचना चाहिए जिसे eye flu संक्रमण है।

Eye Flu  के लक्षण-

आई फ़्लू की समस्या में मरीज़ को आँखों में दर्द और सूजन जैसी समस्याएँ होती हैं। परिणामस्वरूप आंख से पानी बहने लगता है। रोग बढ़ने पर रोगी को देखने में परेशानी हो सकती है।
EyeFlu के मुख्य लक्षण निम्नलिखित हैं- .
eye flu symptoms causes treatment and prevention in hindi

  1. आँखे लाल होना
  2. आँखों में खुजली होना
  3. आँखों से धुंधला दिखाई देना
  4. आँखों से पानी आना
  5. आँखों में दर्द होना

शुरुआत में यह लक्षण एक आँख में नजर आते हैं और समय पर ईलाज न करने पर दुसरे आँख में भी फ़ैल सकता हैं। Eye Flu के गंभीर अवस्था में कुछ रोगियों के आँख से खून भी निकल सकता हैं।
आँखों से हरा या सफ़ेद चिपचिपा द्रव निकलने से पलके चिपकना Eye Flu होने का एक बड़ा लक्षण है ।
धुप या तेज रोशनी के प्रति असंवेदनशीलता जिसे फोटोफोबिया भी कहा जाता हैं।

Eye Flu  से कैसे बचें –

बारिश के मौसम में आई फ़्लू होने का ख़तरा अधिक होता है। इसलिए लोगों को खासकर बरसात के मौसम में स्वच्छता बनाए रखने की जरूरत है। नियमित रूप से साबुन से हाथ धोने से आप संक्रमण का शिकार होने से बच सकते हैं। अधिकतर लोगों में यह बीमारी हाथ से ही फैलती है। गंदे हाथों से आंखों को छूने से बचें। इसके अलावा कपड़े, तौलिए, टूथब्रश और मेकअप भी शेयर न करें। जब आप सार्वजनिक स्थानों पर जाएं तो संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए दरवाज़े के हैंडल या कहीं और छूने से बचें। इन उत्पादों को छूने के बाद अपने हाथ साबुन से धोएं। इसके अलावा EYE FLU से बचने के लिए आंखों पर काला चश्मा या धूप का चश्मा लगाएं।

Eye Flu का इलाज-

आई फ्लू के लक्षण होने पर आपको दवाएं लेने से बचना चाहिए। यदि लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर की सहायता लें। डॉक्टर मरीज की स्थिति और लक्षणों के आधार पर दवा की सलाह देते हैं। जो लोग गंभीर रूप से संक्रमित हैं उन्हें कुछ मजबूत दवाएं दी जा सकती हैं। संक्रमण को रोकने के लिए डॉक्टर अक्सर एंटीबायोटिक्स और इंजेक्शन लिखते हैं। गर्म और ठंडी सिकाई से भी इस समस्या में राहत मिलती है। इसके अलावा बाहर निकलते समय काला चश्मा पहनने की सलाह दी जाती है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *